Tue. Sep 27th, 2022

हरे रंग की लम्बी ककड़ीखाने में कोई स्वाद नहीं रखतीपरन्तु मानव शरीर के लिए बहुतलाभदायक, विटामिनों से भरपूरहै। भले ही आप रोगी नहीं हैंतो भी ककड़ी खाने से आपकास्वास्थ्य अच्छा रहेगा ।

पाचन शक्ति बढ़े

ककड़ी का प्रयोग पकाकर नहीं कच्चे रूप में ही करना अधिकअच्छा रहता है । ककड़ी, प्याज, टमाटर इन तीनों के टुकड़े काटकरनमक मिर्च डालकर ऊपर से नींबू का रस निचोड़कर हर रोज खानेके साथ लेते रहें तो पेट रोग कभी आपके पास नहीं आएँगे ।

वाता रोग

जब मानव शरीर में यूरिक एसिड शरीर में अधिक मात्रा में होजाता है तो इन्सान को वाता रोग लगता है । इसके लिए ककड़ी औरगाजर दोनों का आधा आधा गिलासा रस निकाल कर हर रोज एकमास तक पीने से वाता रोग से मुक्ति मिल जाती है । सस्ता और घरेलूइलाज हर प्राणी स्वयं कर सकता है ।

ब्लड प्रेशर

ककड़ी में पोटाशियम तत्व काफी मात्रा में पाए जाते हैं। इसलिएइसका रस हर प्रकार के ब्लड प्रेशर रोगी के लिए अति उपयोगी है।

पेशाब कम आना

जिन लोगों को पेशाब कम आता हो अथवा जलन के साथ आता हो उन्हें हर रोज प्रातः आधा गिलास ककड़ी का रस पीना

चाहिए इससे हर प्रकार के पेशाब रोग ठीक हो जाते हैं ।

बालों के रोग

बालों के अनेक रोगों में ककड़ी बहुत ही लाभकारी सिद्ध हुईहै। क्योंकि ककड़ी में सिलकिन और सल्फर दोनों ही अधिक मात्रामें पाये जाते हैं। जो लोग अपने बालों को लम्बे और घने करनाचाहते हैं-या जिनके बाल झड़ रहे हैं उन्हें ककड़ी के रस से बालोंको धोना चाहिए । इससे बालों के सब रोग दूर हो जाएँगे ।

दाँतों के रोग के लिए

जो लोग दाँतों के रोग से परेशान रहते हैं। विशेषकर जिन केदाँतों से खून, पीप निकलता हो, उनके लिए ककड़ी खाना बहुतसेअच्छी चीज है। ककड़ी का रस भी उन लोगों को दाँत रोगों से मुक्तिदिलाता है ।

Disclaimer: यहां दी गई जानकारी किसी चिकित्सकीय सलाह का विकल्प नहीं है । इनको केवल जानकारी के रूप में लें । इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.